वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > तिएलिंग > मूलपाठ

भूमिपुत्रों के रोजगार के मुद्दे पर राज ठाकरे की पार्टी आक्रामक

2022-10-03 09:30:22 तिएलिंग

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकMP News: RTO अफसर के घर छापेमारी, आय से 650 गुना अधिक संपत्ति मिली, अधिकारियों के उड़े होश******Highlightsएमपी में एक आरटीओ अफसर के घर ईओडग्ब्ल्यू ने छापेमारी की है। इस छापे में अधिकारी के घर से खजाना मिला है। यह बेहिसाब संपत्ति देखकर अफसरों के भी होश उड़ गए। इस आरटीओ अफसर के घर से उसकी आमदनी से 650 गुना ज्यादा संपत्ति मिली।मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर का है। यहां के एक आरटीओ अधिकारी संतोषपाल सिंह का घर किसी राजमहल की तरह लगता है। जब अफसरों ने यहां छापेमारी के दौरान उसकी संपत्ति देखी तो दंग रह गए। उसकी संपत्ति आय से 650 गुना अधिक होने के संकेत हैं। जांच में जबलपुर के इस अधिकारी के पास से 16 लाख रुपए कैश मिली। छापेमारी के दौरान आलम यह दिखा कि ड्राइंग रूम से लेकर बाथरूम तक, हर जगह काली कमाई का नजारा फैला हुआ दिखा। इस आरटीओ अधिकारी ने अपने घर में पर्सनल थिएटर तक बना रखा है। काली कमाई से थिएटर में लाल सीटें लगा रखी हैं। जांच के दौरान संतोषपाल सिंह के कई घर, कई लग्जरी गाड़ियां और दूसरे अन्य डॉक्यूमेंट्स प्राप्त हुए हैं।जानिए क्या है पूरा मामला?ईओडब्ल्यू एसपी देवेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि आरटीओ संतोष पाल और उनकी लिपिक पत्नी रेखा पाल के पास बेहिसाब संपत्ति होने की बात पता चली थी। कई शिकायतें इस संबंध में प्राप्त हुई थीं। इसका निरीक्षक स्वर्णजीत सिंह धामी द्वारा सत्यापन कराया गया। इस दौरान जब देर रात तक छानबीन की गई तो इसमें कई साक्ष्य सामने आए। इन साक्ष्यों से पता चला है कि आरटीओ संतोष पाल की सेवा अ​वधि में वैध स्त्रोतों से प्राप्त आमदनी की तुलना में व्यय और अर्जित संपत्ति 650 फीसदी ज्यादा है।ईओडब्ल्यू को जांच के दौरान पीपी कॉलोनी ग्वारीघट में 1247 वर्गफीट के घर के डॉक्यूमेंट्स मिले हैं। इसी तरह शंकरशाह वार्ड में 1150 वर्गफीट, शताब्दीपुरम जो कि एमआरफोर रोड पर है, वहां पर 10 हजार वर्गफीट के दो आवासीय भवन, कस्तूरबा गांधी वार्ड में 570 वर्गफीट और गढ़फाटक में 771 फीट के घर के अलावा ग्राम दीखाखेड़ा, चरगवां रोड़ पर 1.4 एकड़ जमीन पर बने फार्म हाउस के बारे में भी पता चला है।कार, बाइक, बुलेट के दस्तावेज मिलेईओडब्ल्यू को जांच के दौरान आरटीओ द्वारा खरीदी गई स्कॉर्पियो कार, पल्सर बाइक और बुलेट के डॉक्यूमेंट्स भी मिले हैं। इस तरह आरटीओ के पास बेहिसाब संपत्ति अधिारियों को पता चली है।

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकIND vs AUS : मोहाली की पिच पर टॉस क्यों होगा अहम, जानिए सारे रिकॉर्ड******Highlights टी20 विश्व कप 2022 से पहले टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया से तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलने जा रही है। सीरीज का पहला मैच आज मोहली स्टेडियम में खेला जाएगा। हिटमैन रोहित शर्मा के हाथों में भारतीय टीम की कमान है, वहीं ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी एरॉन फिंच कर रहे हैं। इस बीच आज के मैच में टॉस की भूमिका काफी अहम होने जा रही है। जो भी कप्तान आज टॉस जीतेंगे, उनके लिए मैच जीतना कुछ आसान हो जाएगा। अभी तक इस स्टेडियम पर जो भी मैच खेले गए हैं, वे इशारा तो इसी ओर कर रहे हैं।भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तक कुल मिलाकर 23 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले गए हैं। इसमें से 13 मैच टीम इंडिया ने अपने नाम किए हैं, वहीं नौ मैच ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जीते हैं। एक मैच का परिणाम नहीं आया। यानी पलड़ा तो भारतीय टीम का भारी नजर आता है। लेकिन अगर आप मोहाली में टॉस की भूमिका पर नजर डालेंगे तो पाएंगे कि यहां टॉस काफी अहम होगा। पंजाब के आईएस बिंद्रा स्टेडियम पर साल 2009 से लेकर साल 2019 तक पांच टी20 इंटरनेशनल मैच खेले गए हैं। इसमें से तीन बार वो टीम मैच जीत है, जिसने बाद में बल्लेबाजी की है, यानी रनों का पीछा किया है, वहीं दो बार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम भी जीतने में कामयाब हुई है। यानी जो भी कप्तान आज के मैच में टॉस जीतेगा, वो शायद पहले गेंदबाजी करने का फैसला करेगा। टीम इंडिया के इस स्टेडियम पर प्रदर्शन की बात करें तो भारत ने अब तक इस मैदान पर तीन टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। पहली बार भारतीय टीम यहां साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेलने के लिए उतरी थी, उस मैच में भारतीय टीम ने श्रीलंका को छह विकेट से हराया था। वहीं दूसरी बार साल 2016 में मैच हुआ। तब भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को इस स्टेडियम पर छह विकेट से हराया था। इसके बाद साल 2019 में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलने के लिए उतरी थी, इस मैच में भी टीम इंडिया ने अफ्रीका को सात विकेट से हराया है। यानी भारतीय टीम ने जो तीन टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, उसमें हर बार बाद में ही बल्लेबाजी करते हुए मैच अपने नाम किए हैं। यानी रोहित शर्मा अगर आज के मैच में अगर टॉस जीतते हैं तो पहले गेेंदबाजी का फैसला कर सकते हैं।टीम इंडिया के लिए ये सीरीज इसलिए भी अहम है, क्योंकि इसके बाद भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से तीन टी20 मैच खेलेगी और उसके बाद टी20 विश्व कप शुरू हो जाएगा। भारतीय टीम के लिए प्रैक्टिस का ये अच्छा मौका है, वहीं टीम कॉबिनेशन खोजने में भी मदद मिलेगी। टी20 विश्व कप 2022 में टीम इंडिया का पहला ही मुकाबला 23 अक्टूबर को पाकिस्तान से है, ये मैच मेलबर्न में खेला जाएगा। इसलिए भारतीय टीम की कोशिश होगी कि इन छह मैचों में ही फाइनल प्लेइंग इलेवन खोज ली जाए, ताकि पाकिस्तान के खिलाफ मैच में किसी तरह की गलती न हो। देखना होगा कि टीम इंडिया आज किस प्लेइंग इलेवन के साथ मैदान में उतरती है और टीम का प्रदर्शन कैसा रहता है।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकCyclone Asani: आंध्र प्रदेश में तूफानी लहरों के बीच बहकर आया रहस्यमयी 'सोने का रथ', खुफिया विभाग को दी जानकारी, देखें VIDEO******Highlights अजीबो गरीब दिखने वाला सुनहरे रंग का एक रथ के उत्तरी तटीय जिले श्रीकाकुलम में सांताबोम्मली के निकट बंगाल की खाड़ी में बुधवार सुबह बहकर आ गया, जिससे स्थानीय लोग हैरत में पड़ गए। मंदिर की तरह दिखने वाले रथ पर लिखे शब्दों के आधार पर पुलिस को संदेह है कि यह म्यांमार से आया हुआ हो सकता है। रथ पर दिनांक 16-01-2022 खुदा हुआ मिला। स्थानीय लोगों ने इसे किनारे खींच लिया, जिसके बाद पुलिस ने इसे अपने नियंत्रण में ले लिया।किसी को यह अंदाजा नहीं है कि यह रथ इतनी दूर कैसे आ पहुंचा। चक्रवाती तूफान असानी (Cyclone Asani) के कारण वर्तमान में समुद्र की स्थिति ठीक नहीं है और संभवत: इसी कारण रथ बहकर यहां आ पहुंचा। नौपाडा के पुलिस उप-निरीक्षक (SI) ने बताया कि रथ और इसकी संरचना पर लिखावट से पता चलता है कि यह मूल रूप से म्यांमार से आया हुआ हो सकता है। एसआई ने कहा, ‘‘यह टीन की चादर से बना है और इसे सुनहरे रंग से पेंट किया गया है। यह पहियायुक्त मंदिर जैसा दिखता है।’’ उन्होंने बताया कि रथ पर कोई नहीं था।वहीं, चक्रवात ‘असानी’ के कारण ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि भीषण चक्रवात ‘असानी’ बुधवार को एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होते हुए उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश की ओर बढ़ गया और इस दौरान क्षेत्र में 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। विभाग के अनुसार, चक्रवात के बृहस्पतिवार तक और कमजोर पड़ने और एक निम्न दबाव वाले क्षेत्र में तब्दील होने की संभावना है।भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपने राष्ट्रीय बुलेटिन में बताया, ‘‘ इसके अगले कुछ घंटों में उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है। बुधवार को दोपहर से शाम के बीच इसके एक बार फिर जोर पकड़ने और नरसापुर, यानम, काकीनाड़ा, तुनी और विशाखापत्तनम तटों के साथ उत्तर-उत्तर पूर्व की ओर धीरे-धीरे बढ़ने और रात में उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटों से पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में समा जाने की संभावना है।’’

भूमिपुत्रों के रोजगार के मुद्दे पर राज ठाकरे की पार्टी आक्रामक

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकJammu and Kashmir: जम्मू में सैनिक ने खुद को मारी गोली, मौके पर मौत, हिमाचल प्रदेश का रहने वाला था जवान******Highlights जम्मू में सेना के शिविर के अंदर एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को कथित तौर पर गोली मार ली जिससे उसकी मौत हो गई। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सैनिक योगेश कुमार मीरन साहिब इलाके में कुलियां शिविर में गार्ड ड्यूटी पर थे तभी उन्होंने खुद को सिर में गोली मार ली। हिमाचल प्रदेश के रहने वाले कुमार की मौके पर ही मौत हो गई । पुलिस ने उनके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।गहरे सदमे में परिवारयोगेस के आत्महत्या की वजह प्रेम प्रसंग बताई जा रही है। गोली लगने से पहले उसने अपने हाथ पर लिखा कि विनोद, अक्षय मुझे माफ करना। डिंपल तेरा BATRA तेरी मौत की खबर नहीं सुन सकता इसलिए मैं भी आ रहा हूं DIMPLE I LOVE U। घटना के बाद से ही मृतक के परिजन गहरे सदमे में हैं। मिलिट्री अस्पताल में योगेश का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। परिवार के लोग जम्मू कश्मीर पहुंच गए हैं।मृतक के बड़े भाई भी सेना मेंमृतक के बड़े भाई भी भारतीय सेना में 15 जैक राइफल में सेवारत हैं। वह भी जम्मू कश्मीर पहुंच गए हैं। योगेश हिमाचल प्रदेश में मंडी के पधर के रहने वाले थे। योगेश की अभी शादी नहीं हुई थी। उनके साथियों का कहना है कि योगेश बहुत ही अच्छे इंसान थे। वह अपने परिवार से काफी प्यार करते थे। उनके इस तरह आत्महत्या कर लेने से उनके दोस्त काफी सदमे में हैं।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकबिहार में बिजली गिरने और तूफान से पिछले 24 घंटो में 41 लोगों की मौत****** में पिछले 24 घंटों में बिजली गिरने और तूफ़ान की घटनाओंमें कम से कम 41 लोगों की की मौत हो गई। बिजली गिरने घटनाएं वैशाली, पटना, भोजपुर, सारण, रोहतास, नालंदा और अररिया जिले में हुई हैं जहां 26 लोगों की जानें गईं जबकि मंगलवार की सुबह आई आंधी में 15 लोगों की जान चली गई. आंधी का असर पटना समेत कई जिलों में रहा। लगभग 80 से 100 किलोमीटर के रफ्तार से चली आंधी और बारिश ने बिहार के एक दर्जन से ज्यादा जिलों में तबाही मचा कर रख दी। सुबह 5 बज कर 43 मिनट से तूफान का दौर शुरू हुआ और कुछ मिनट में ही 15 लोगों को मौत को नींद सुला गया।बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के मुताबिक बिहार के विभिन्न जिलों में 15 लोगों की मौत बिजली एवं पेड़ या दीवार गिरने से हुई है।जानकारी के मुताबिक पटना, नालंदा पूर्णिया दरभंगा सुपौल अररिया मुंगेर एक एक मौत हुई है जबकि लखीसराय औरंगाबाद मधुबनी बेगूसराय में दो-दो लोगों की मौत की जानकारी मिली है। तूफान और बारिश की वजह से पेड़ गिरने से पटना के मनेर और लखीसराय के सूर्यगढ़ा में दो लोगों की मौत हुई वहीं छज्जा गिरने से अलग-अलग घटनाओं में बेगूसराय में दो महिलाओं की मौत हो गई। सुपौल पूर्णिया औरंगाबाद मधुबनी मुंगेर अररिया में बिजली गिरने से लोगों के मरने की सूचना मिली है।बिहार सरकार ने सभी मृतकों को चार-चार लाख रुपए की राशि अनुदान के रूप में दिया है।आंधी-तूफान में पटना के नजदीक दानापुर में पीपा पुल टूट गया वहीं हाजीपुर के निर्माणधीन पीपा पुल को भी नुकसान पहुंचा है. मधुबनी में एक मंदिर का गुंबद टूट गया. उत्तर-पश्चिम विझोभ की वजह से तूफान ने कहर बरपाया। इस आंधी और तूफान से खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचा ख़ासकर मक्का और लीची और आम के फसलों पर इसकी असर पड़ा है।मौसम विभाग ने सोमवार के लिए एलर्ट जारी किया था लेकिन बारिश का पूर्वानुमान था पर बारिश के साथ-साथ तूफान ने भी कहर बरपा दिया हांलाकि मौसम के इस बदलाव से तापमान में भारी गिरावट आई है। लोगों को गर्मी से राहत तो मिली लेकिन कई परिवारों को इस तूफान ने तबाह कर दिया.पटना से 40 किलोमीटर दूर अथमलगोला में एक पेड़ के हाईवे पर गिर जाने के कारण 8 घंटे तक आवाजाही ठप्प रही. वहीं दानापुर रेल मंडल के जमुनिया के पास ओवर हेड वायर के टूटने से गाड़ियों के परिचालन पर भी असर पड़ा.पटना में सबसे ज़्यादा 48 मिमी बारिश हुई जबकि भागलपुर और गया में भी हल्की बारिश दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश के कई हिस्से में भारी बारिश हुई है जिससे बड़ी नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। घाघरा और शारदा नदियां खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं।उधर पूर्वोत्तर के राज्य असम के करीमगंज ज़िले में बाढ़ से रविवार को एक और व्यक्ति की मौत हो गई जिससे राज्य में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 26 हो गई है। बाढ़ से 15 जिले में करीब पांच लाख लोग प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक 1096 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं और करीब 41 हजार 200 हेक्टेयर फसल क्षतिग्रस्त हुई है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से बात की और उन्हें केंद्र से हरसंभव मदद का भरोसा दिया है।राजस्थान में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हुई है जबकि चुरू राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा जहां का तापमान 42.2 डिग्री सेल्सियस रहा। पंजाब और हरियाणा में भी उमस भरा मौसम रहा। इन राज्यों में दक्षिण पश्चिम मानसून के आने में थोड़ा वक्त और लग सकता है।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकNancy Pelosi Taiwan Visit: चीन की धमकियों के बीच नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा हुई पूरी, साउथ कोरिया रवाना होने से पहले क्या कुछ बोलीं?******Highlightsताइवान यात्रा पर आईं अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ताइपे में राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन से मुलाकात के बाद दक्षिण कोरिया के लिए रवाना हो गई हैं। पेलोसी चीन की धमकियों के बीच कल यानी मंगलवार देर रात ताइवान पहुंची थीं। हालांकि, युद्ध का खतरा अभी टला नहीं है। चीन जल्द ही ताइवान पर हमला कर सकता है।चीन की नेवी और एयरफोर्स ने चारों तरफ से ताइवान को घेर रखा है। चीन खुल्लम खुल्ला धमकी दे रहा है। ताइवान से चंद सौ किलोमीटर दूर चीन के फुजियान प्रांत में इस वक्त हलचल काफी तेज है। सायरन बज रहे हैं। टैंक्स की मूवमेंट हो रही है। चीन बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है।ताइवान यात्रा समाप्त कर दक्षिण कोरिया रवाना होने से पहले नैंसी पेसोसी ने कहा कि हम यहां तीन मकसद से आए हैं। उन्होंने कहा, "पहला सुरक्षा को लेकर, यहां के लोगों की सुरक्षा। दूसरा आर्थिक मजबूती, जिसे हर संभव तरीके से बेहतर किया जा सके। तीसरा गवर्नेंस। इन तीनों मकसद के जरिए हम इस क्षेत्र में शांति चाहते हैं। बातचीत से हर मुद्दे का समाधान हो, ताकि एशियन पैसिफिक रीजन में शांति बनी रहे। हम इस क्षेत्र में ताइवान के साथ सभी देशों के अच्छे संबंध का समर्थन करते हैं।"पेलोसी ने कहा, "दुनिया में लोकतंत्र और निरंकुशता के बीच संघर्ष है। जैसा कि चीन समर्थन हासिल करने के लिए अपनी सॉफ्ट पावर का इस्तेमाल करता है, हमें ताइवान को लेकर उसके तकनीकी विकास के बारे में बात करनी होगी और लोगों को ताइवान के ज्यादा लोकतांत्रिक बनने का साहस दिखाना होगा।"ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने कहा, "हम ताइवान स्ट्रेट में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ताइवान एक स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफिक को सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय सुरक्षा के रूप में एक प्रमुख स्थिर शक्ति बना सकता है।"पेलोसी के आने से चीन ने ताइवान पर कई पाबंदियां लगा दी हैं। यही नहीं चीनी सेना ने 21 सैन्य विमानों से ताइवान के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में उड़ान भरकर अपनी ताकत दिखाई। वहीं, इन सबके बीच चीन ने एक बार फिर हमला बोलते हुए कहा कि अब ताइवान स्ट्रेट के पास सैन्य अभ्यास बेहद जरूरी है।ताइवान की रक्षा के लिए अमेरिका उसे सैन्य उपकरण बेचता है, जिसमें ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर भी शामिल है। ओबामा प्रशासन ने 6.4 अरब डॉलर के हथियारों के सौदे के तहत 2010 में ताइवान को 60 ब्लैक हॉक्स बेचने की मंजूरी दी थी। इसके जवाब में चीन ने अमेरिका के साथ कुछ सैन्य संबंधों को अस्थायी रूप से तोड़ दिया था। चीन ताइवान के मुद्दे पर किसी तरह का विदेशी दखल नहीं चाहता है। उसकी कोशिश रहती है कि कोई भी देश ऐसा कुछ नहीं करे, जिससे ताइवान को अलग पहचान मिले। यही वहज है अमेरिकी संसद की स्पीकर के दौरे से चीन आगबबूला गया।ताइवान दक्षिण पूर्वी चीन के तट से करीब 100 मील दूर स्थित एक द्वीप है। ताइवान खुद को संप्रभु राष्ट्र मानता है। उसका अपना संविधान है। ताइवान में लोगों की ओर से चुनी हुई सरकार है, जबकि चीन की कम्युनिस्ट सरकार ताइवान को अपने देश का हिस्सा बताती है। चीन इस द्वीप को फिर से अपने कब्जे में लेना चाहता है। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, ताइवान और चीन के पुन: एकीकरण की जोरदार वकालत करते हैं।

भूमिपुत्रों के रोजगार के मुद्दे पर राज ठाकरे की पार्टी आक्रामक

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकCorona Cases in India: देश में एक सप्ताह के भीतर 41% बढ़ गए मरीज, क्या यह चौथी लहर की है आहट?******Highlightsदेश में पिछले एक माह से कोरोना के केसेस लगातार बढ़ रहे हैं। देश की राजधानी दिल्ली सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। वहीं देश में भी कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है। देश में 25 अप्रैल से 1 मई के बीच ही 22 हजार से ज्यादा नए केसेस सामने आए। वहीं इससे पहले के हफ्ते में 15 हजार केसेस आए थे। इस हिसाब से यह केस एक सप्ताह में 41 फीसदी ज्यादा हैं। जानिए किस राज्य में कितने फीसदी मरीज बढ़े हैं। नई रिसर्च क्या है और वैश्विक संस्थाएं इस पर क्या कह रही हैं।देश में मिल रहे केसेस में से 68% अकेले 3 राज्यों दिल्ली, हरियाणा और UP से हैं। दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 7% से ऊपर है। यानी WHO की नजर में यहां संक्रमण बेकाबू है। ऐसे में देश में कोरोना की चौथी लहर आने की खबरें भी सामने आ रही हैं। देश के दो और राज्यों राजस्थान और एमपी में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजस्थान में पिछले हफ्ते के मुकाबले कोरोना केस 155% और MP में 132% बढ़े हैं, जो नए खतरे का संकेत हैं।दिल्ली में हर दिन कोरोना के औसतन एक हजार केस मिल रहे हैं। इस हफ्ते दिल्ली में कोरोना के 9,684 केस मिले हैं। देश में मिल रहे कुल मामलों का यह 43% है। पिछले हफ्ते दिल्ली में 6,326 कोरोना केस मिले थे। यानी इस हफ्ते 53% की बढ़ोतरी हुई है।दिल्ली के 11 में से 7 जिलों में वीकली पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा है। साउथ दिल्ली में 8.83%, वेस्ट दिल्ली में 7.95%, नॉर्थ वेस्ट में 7.73%, ईस्ट दिल्ली में 7.25%, साउथ वेस्ट दिल्ली में 6.42%, नई दिल्ली में 6.24% और सेंट्रल दिल्ली में वीकली पॉजिटिविटी रेट 5.55% है। आमतौर पर पॉजिटिविटी रेट 4% से 5% तक हो तो स्थिति नियंत्रित मानी जाती है, लेकिन WHO कहता है कि यदि यह 5% से ज्यादा है तो स्थिति बेकाबू हो चुकी है।इस हफ्ते एमपी में 172 कोरोना मरीज मिले हैं। यह पिछले हफ्ते मिले 74 मरीजों से 132% ज्यादा है। इसके साथ ही राज्य में पिछले एक हफ्ते में एक्टिव केस 200% तक बढ़ गए हैं। 26 अप्रैल को यहां कोरोना के सिर्फ 75 एक्टिव केस थे जबकि 27 अप्रैल से 3 मई के बीच यह 203% हो गए। एमपीP में एक हफ्ते पहले जहां सिर्फ 18 ऐसे जिले थे, जिनमें एक्टिव केस थे। वहीं अब 21 जिलों में कम से कम एक एक्टिव केस है।राजस्थान में 25 अप्रैल से 1 मई के बीच कोरोना के कुल 360 मामले आए हैं। यह इसके पहले हफ्ते आए 141 केस से 155% ज्यादा है। राजस्थान में कोरोना के एक्टिव केस 500 के करीब हैं। जयपुर में 300 से ज्यादा एक्टिव केस हैं। राजस्थान में 5 मई को भी कोरोना के 63 नए केस मिले हैं।नेशनल कैपिटल रीजन यानी NCR में इस हफ्ते भी कोरोना केस में बढ़ोतरी देखी गई है। हरियाणा में इस हफ्ते कोरोना के 3,695 नए केस आए जो पिछले हफ्ते की तुलना में 2,296 से 61% ज्यादा हैं। वहीं UP में इस हफ्ते 1,736 केस मिले। यह पिछले हफ्ते मिले 1,278 केस से 36% ज्यादा हैं।केरल में पिछले हफ्ते के मुकाबले इस हफ्ते कोरोना के 2 हजार नए केस आए हैं, जो पिछले हफ्ते से ज्यादा हैं। वहीं महाराष्ट्र में इस हफ्ते 1,060 नए मरीज मिले हैं जबकि पिछले हफ्ते 996 केस दर्ज किए गए थे। इसके अलावा कर्नाटक, तमिलनाडु, बंगाल, तेलंगाना, पंजाब और उत्तराखंड में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।कोरोना की चौथी लहर को लेकर कितना खतरा?विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO प्रमुख टेड्रोस गेब्रेयेसस ने कहा है कि ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA.4, BA.5 अभी भी म्यूटेट हो रहे हैं। ऐसे में आगे क्या होगा इसे लेकर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि ये नए सब-वेरिएंट अन्य ओमिक्रॉन सब-वैरिएंट की तुलना में कितने खतरनाक हैं अभी यह जांच का विषय है।WHO प्रमुख ने कहा कि ओमिक्रॉन का BA.2 वैरिएंट अभी भी दुनियाभर में नए कोरोना केस आने का सबसे बड़ा कारण है। इसके सब वैरिएंट BA.4 और BA.5 की वजह से साउथ अफ्रीका में भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। कई देशों में हम यह देख रहे हैं कोरोना वायरस कैसे म्यूटेट हो रहा है। ऐसे में हम नहीं जानते कि आगे क्या होगा।कोरोना पर क्या कहती हैं रिसर्चयूरोप और एशिया के कई देशों में कोरोना की चौथी लहर ने तबाही मचाई हुई है। इजराइल में हुई एक नई रिसर्च में बताया गया है कि इस गर्मी में डेल्टा या कोरोना का कोई नया वैरिएंट नया प्रकोप ला सकता है। यह रिसर्च साइंस ऑफ द टोटल एनवायरनमेंट जर्नल में प्रकाशित हुई है।रिसर्च में बताया गया है कि जब कोई नया स्ट्रेन आता है, तो पिछला स्ट्रेन खत्म हो जाता है लेकिन डेल्टा के मामले ऐसा नहीं हुआ। ओमिक्रॉन और उसके सब वैरिएंट आने के बाद भी डेल्टा खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में डेल्टा गर्मियों में एक बार फिर से घातक रूप ले सकता है। रिसर्च ने अपने अध्ययन के लिए नाले से सैंपल लिए और उन्होंने पाया कि डेल्टा अभी खत्म नहीं हुआ है, बेशक ओमिक्रॉन बढ़ गया हो।कोरोना की चौथी लहर पर जानिए क्या कह रहे हैं विशेषज्ञ?वहीं विशेषज्ञ कह रहे हैं कि कोरोना की चौथी लहर जैसी अ​भी तो कोई स्थिति नहीं है, लेकिन यह आ सकती है, इसकी आशंका ज्यादा है। उधर, अपने स्टैटिस्टिकल मेथेड से देश में 22 जून तक चौथी लहर आने की भविष्यवाणी करने वाले IIT कानपुर के प्रोफेसर शलभ का चौथी लहर को मानना है कि ये कहना अभी बहुत जल्दबाजी होगी कि केस का बढ़ना चौथी लहर का संकेत है। ये पूछे जाने पर कि क्या भविष्य में चौथी लहर आ सकती है? प्रो. शलभ ने कहा कि इसकी आशंका ज्यादा है। कोरोना पर कई सटीक भविष्यवाणी करने वाले IIT कानपुर के प्रोफेसर मनींद्र अग्रवाल ने चौथी लहर आने के सवाल पर कहा कि अभी मुझे चौथी लहर आने की कोई आशंका नहीं है।कोरोना पाबंदियां हटने से बढ़ रहे कोरोना केसेजएक्सपर्ट्स देश में फिर से कोरोना केस बढ़ने पर कहते हैं कि सारी पाबंदियां हट गई हैं, ऑफिस खुल गए हैं, बच्चे स्कूल जाने लगे हैं। पाबंदियां हटने की वजह से ही मामले बढ़े हैं। कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये तीसरी लहर के बाद का उतार-चढ़ाव है, जिसकी वजह से हाल ही में कई यूरोपीय देशों में भी केस अचानक बढ़ने लगे थे। सरकार ने 31 मार्च से देश में कोरोना पाबंदियां खत्म कर दी थीं और सार्वजनिक जगहों पर मास्क न पहनने पर जुर्माने का प्रावधान खत्म कर दिया गया था।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकयूपी: गोरखनाथ मंदिर के पास हुए हमले के मामले में एक शख्स गिरफ्तार, पुलिस ने जताई इस बात की आशंका******Highlightsयूपी के गोरखपुर में बीते दिन गोरखनाथ मंदिर में हुए हमले के मामले में पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने इस मामले में एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। गोरखपुर के एसएसपी डॉ. विपिन टाडा ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इस हमले में 2 पुलिसकर्मी घायल हुए थे, जिसके बाद केस को रजिस्टर कर लिया गया है। आरोपी जिले का ही निवासी है और मामले की जांच जारी है। इस घटना में आरोपी खुद भी घायल हुआ है।इस मामले में यूपी एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि शख्स के पास से जो चीजें बरामद हुई हैं, उसकी टेस्टिंग जारी है और इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। इसमें आतंकी एंगल भी हो सकता है, इसलिए किसी भी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इस मामले को ATS को ट्रांसफर किया जाएगा और गहराई से जांच की जाएगी।प्रशांत कुमार ने ये भी बताया कि गोरखनाथ थाने के गेट नंबर-1 के पास रविवार शाम 7 बजे ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों पर एक व्यक्ति ने हमला किया और धार्मिक नारे भी लगाए। इस हमले में 2 सिपाही घायल हुए थे। पकड़े गए शख्स की पहचान गोरखपुर के रहने वाले अहमद मुर्तुजा के रूप में हुई है।

भूमिपुत्रों के रोजगार के मुद्दे पर राज ठाकरे की पार्टी आक्रामक

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकमहिला हेड कांस्टेबल सीमा ढाका को 76 लापता बच्चों का पता लगाने पर मिला आउट ऑफ टर्न प्रमोशन****** राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के समयपुर बादली पुलिस थाने में तैनात एक महिला हेड कॉन्स्टेबल को उनकी कार्य निष्ठा और ईमानदारी को देखते हुए उच्चाधिकारियों ने आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन देने का फैसला किया है। बता दें कि महिला हेड कॉन्स्टेबल सीमा ढाका को यह इनाम लापता हुए 76 बच्चों को ढूंढ़ने के बाद मिला है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन 76 बच्चों में से 56 की उम्र 14 साल से भी कम है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर एन. एन. श्रीवास्तव की ओर से घोषित इन्सेंटिव स्कीम के तहत उन्हें प्रमोशन दी गई है। इस स्कीम के तहत सीमा आउट ऑफ टर्न प्रमोशन पाने वाली दिल्ली पुलिस की पहली कर्मचारी बन गई हैं। द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, इन को न केवल दिल्ली बल्कि पंजाब और पश्चिम बंगाल जैसे अन्य राज्यों से भी खोजा गया है। दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त पीआरओ अनिल मित्तल ने कहा कि दिल्ली के विभिन्न पुलिस थानों से इन 76 बच्चों के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज की गई थी, जिन्हें महिला सीमा ढाका ने ढाई महीने में ईमानदारी और मेहनत से किए गए प्रयासों से ढूंढ निकाला। बता दें कि दिल्ली के पुलिस कमिश्नर श्रीवास्तव ने 5 अगस्त को राजधानी में लापता बच्चों को ढूंढने और उनके माता-पिता को सौंपने के लिए पुलिसिया खेमे को प्रोत्साहित किया था। इस दौरान उन्होंने इस काम को जल्द पूरा करने वाले पुलिसकर्मियों को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन देने का भी वादा किया था।

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामक25 से हो रहा है बुध का गोचर, बुध को प्रसन्न करने के लिए कीजिए ये उपाय******बुध ग्रह 25 अप्रैल को वृष राशि में गोचर कर रहा है। बुध 25 अप्रैल को रात 12 बजकर 05 मिनट पर वृष में गोचर करेंगेऔर इसके साथ ही कई राशियों पर इस गोचर का असर दिखाई देगा। देखा जाए तो बुध शुक्र की स्वराशि वृषभ में गोचर कर रहे हैं जो हर राशि पर कुछ न कुछ असर जरूर डालेगा। लेकिन इसके साथ ही बुध को प्रसन्न रखने के उपाय किए जाएं तो जिनपर इसका अशुभ असर होगा, वहां भी कुछ राहत मिलने के आसार हो सकते हैं।बुध ग्रह मिथुन और कन्या राशि के स्वामी हैं। बुध को वाणी, हार्मोन्स और बुद्धि बढ़ाने वाला ग्रह माना जाता है। जिन जातकों की कुंडली में बुध मजबूत होता है उन्हें बिजनेस, शिक्षा और करियर के क्षेत्र में नाम कमाते हैं। वहीं उसके उल्टे अगर कुडंली में बुध कमजोर है तो आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामक'दसवी' में किरदार निभाने के लिए निम्रत कौर ने बढ़ाया था 15 किलो वजन, शेयर की ट्रांसफॉर्मेशन जर्नी******बॉलीवुड अभिनेत्री ने 'दसवी' में निभाए गए किरदार के लिए किए गए अपने शरीर में परिवर्तन को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया। वे 'दसवी' में बिमला देवी 'बिम्मो' चौधरी की भूमिका में नजर आएंगी।इंस्टाग्राम पर उन्होंने तस्वीरों का एक कोलाज पोस्ट किया, जिसमें उन्हें एथलेटिक कपड़े पहने हुए देखा जा सकता है। साथ ही उन्होंने एक लंबा पोस्ट भी साझा किया। पोस्ट में एक्ट्रेस ने लिखा, "मेरे हजार शब्दों के लिए बाएं स्वाइप करें, यह तस्वीर कुछ नहीं बोल पाएगी।"अपने नोट में, उन्हें कहा, "हर समय हमें कैसा दिखना चाहिए, इससे उम्र और पेशे से कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं अपने जीवन से एक छोटा सा अध्याय शेयर कर रही हूं।"अभिनेत्री ने कहा कि 'दसवी' के कारण उन्होंने 15 किलो वजन बढ़ाया, जो उनके सामान्य शरीर से 15 किलो अधिक है। इस पूरे अभ्यास में मुझे एक लड़की और एक अभिनेत्री दोनों का रूप देखने को मिला। निम्रत ने बताया कि 10 महीने की जर्नी में उन्होंने बहुत कुछ सीखा।उन्होंने इस पोस्ट के जरिए बताया कि वजन बढ़ाने के दौरान शुरुआत में मुझे थोड़ी झिझक हुई पर धीरे-धीरे मैं इसकी आदी हो गई। कुछ लोगों ने मुझ पर भद्दे कमेंट्स भी किए, तो वहीं कुछ ने फालतू की सलाह भी दी कि मुझे क्या खाना चाहिए।

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामककमरतोड़ महंगाई के बीच बिजली बिल से लगेगा करंट, महंगे कोयले का बोझ ग्राहकों पर डालने की तैयारी में सरकार******ElectricityHighlightsकमरतोड़ महंगाई की वजह से यदि आप अभी तक अपनी कमर सहला रहे थे तो अब कंधे और मजबूत करने का समय आ रहा है। अगले कुछ महीनों में भारी भरकम बिजली बिल से आपकी आंखें चौंधिया सकती है। सरकार विदेशों से आ रहे महंगे कोयले का बोझ उपभोक्ताओं के कंधे पर डालने की तैयारी कर चुका है।घरेलू कोयले की किल्लत के कारण बिजली संकट गहराने की बढ़ती आशंका के बीच बिजली मंत्रालय ने उच्च कीमत वाले आयातित कोयले का भार उपभोक्ताओं पर ही डालने की राय का समर्थन किया है। केंद्रीय बिजली सचिव आलोक कुमार ने मंगलवार को कहा कि दिसंबर 2022 तक कुछ कोयला-आधारित बिजली संयंत्रों के लिए आयातित कोयले पर आने वाली उच्च लागत का भार उपभोक्ताओं पर डालने देने पर सहमति बनी है।उन्होंने कहा कि अगर आयातित कोयले पर आधारित बिजली संयंत्र पूरी क्षमता से नहीं चलेंगे, तो बिजली की बढ़ती मांग के कारण घरेलू कोयला आधारित इकाइयों पर दबाव पड़ेगा। इस कदम से बिजली की उपलब्धता बढ़ाने में मदद मिलेगी क्योंकि अडानी समूह, टाटा पावर और एस्सार जैसी आयातित कोयला आधारित इकाइयां बिजली पैदा करने और राज्य वितरण कंपनियों को बेचने में सक्षम होंगी।इस महीने की शुरुआत में बिजली मंत्री आर के सिंह की अध्यक्षता में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में एस्सार के 1,200 मेगावाट के सलाया संयंत्र और मुंद्रा में अडाणी के 1,980 मेगावाट संयंत्र जैसी इकाइयों को शामिल करते हुए आयातित कोयले की ऊंची लागत को उपभोक्ताओं पर ही डालने को लेकर सहमति बनी थी।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकAsia Cup 2022: सुपर-4 में एक मैच हारने के बाद भी फाइनल में पहुंचेगी टीम इंडिया! जानिए सभी समीकरण******Highlights भारतीय टीम एशिया कप 2022 में आज से अपने सुपर 4 के अभियान की शुरुआत करने जा रही है। पहले मुकाबले में उसका सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा।ग्रुप स्टेज में भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से शिकस्त दी थी। आज फिर से दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ दुबई में खेलेंगी। भारत एक बार फिर से जीत का स्वाद चखने चाहेगा, वहीं पाकिस्तान पिछली हार का हिसाब चुकता करने के मकसद से यह मैच खेलेगी। दोनों टीमें यह मैच जीतकर फाइनल की राह को मजबूत करने के इरादे से उतरेंगी।बात की जाए भारत के फाइनल तक पहुंचने के सफर की तो टीम इंडिया सुपर 4 के तीनों मैचों में से अगर एक मैच हार भी जाती है, फिर भी वह असानी से फाइनल में पहुंच सकती है। ऐसा कैसे होगा आइए हम अपको समझाते है। मान लीजिए की भारतीय टीम अफगानिस्तान और श्रीलंका को हरा देती है, लेकिन पाकिस्तान से उसे हार का सामना करना पड़ता है तब भी वह फाइनल में जगह बना लेगी। ऐसा इसलिए होगा क्यूंकि अफगानिस्तान के अगले दोनों मैच भारत और पाकिस्तान से हैं जो उसके लिए जीतना बेहद कठिन होगा, इस हालात में अफगानिस्तान सुपर 4 में अपने तीनों मैच हार कर एशिया कप से बाहर हो जाएगी। अगर बात करें श्रीलंका की तो पहले मुकाबले में उसने अफगानिस्तान को 4 विकेट से हरा दिया है। लेकिन उसके भी अगले दोनों मैच भारत और पाकिस्तान से हैं, जिन्हें जीतना उसके लिए आसान नहीं होगा। इस स्थिती में भारत और पाकिस्तान एशिया कप 2022 के फाइनल में जगह बना लेंगी।सुपर 4 में भारत समेत सभी टीमें तीन-तीन मुकाबले खेलेंगी। भारत के तीनों ही मैच दुबई में होंगे। रोहित ब्रिगेड के लिए तीनों ही मैच काफी अहम होंगे। पहला मैच आज (4 सितंबर) को पाकिस्तान से होगा। दूसरा मैच श्रीलंका से छह सितंबर को और तीसरा अफगानिस्तान से आठ सितंबर को टीम इंडिया खेलेगी। एशिया कप का फाइनल 11 सितंबर को दुबई के दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में होगा। सुपर-4 राउंड रॉबिन आधार पर खेला जा रहा है। इस राउंड की टॉप 2 टीमें खिताबी भिड़ंत में आमने-सामने होंगी।

भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकथप्पड़ कांड के बाद विल स्मिथ के लिए बंद हुआ ऑस्कर का दरवाजा, लगा 10 साल का बैन******ऑस्कर 2022 में विल स्मिथ को थप्पड़ मारने की घटना के कुछ दिनों बाद, एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स आर्ट्स एंड साइंसेज के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स ने शुक्रवार को अकादमी के सभी कार्यक्रमों से10 साल के लिए बैन कर दिया है। अकादमी की तरफ से दिए एक बयान में इस बारे में बताया गया।लॉस एंजिल्स में शुक्रवार को हुई बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, स्मिथ द्वारा पिछले सप्ताह अकादमी से इस्तीफे की घोषणा के बाद शुरू में 18 अप्रैल को होने वाली बैठक में तेजी लाई गई थी।स्मिथ ने एक बयान में कहा, "मैं अकादमी के फैसले को स्वीकार करता हूं और सम्मान करता हूं।" अभिनेता ने 1 अप्रैल को अकादमी से इस्तीफा दे दिया था और ऑस्कर निर्माताओं, नॉमिनेट किए गए सदस्यों और दर्शकों से माफी मांगते हुए बयान जारी किया था।27 मार्च के टेलीविज़न इवेंट में कॉमेडियन रॉक की तरफ अभिनेता की पत्नी जैडा पिंकेट स्मिथ की उपस्थिति के बारे में मज़ाक करने के बाद स्मिथ मंच पर चढ़ गए, फिर रॉक को सरेआम थप्पड़ जड़ दिया।एक घंटे से भी कम समय के बाद, स्मिथ ने मंच पर एक अश्रुपूर्ण भाषण दिया क्योंकि उन्होंने "किंग रिचर्ड" में अपनी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार स्वीकार किया। समारोह के बाद, उन्हें वैनिटी फेयर की पोस्ट-ऑस्कर पार्टी में डांस करते देखा गया।भूमिपुत्रोंकेरोजगारकेमुद्देपरराजठाकरेकीपार्टीआक्रामकवास्तु टिप्स: सजने-संवरने वाला आईना बदल सकता है आपकी किस्मत, बस रखें इन बातों का ध्यान******Highlightsवास्तु शास्त्र में आज हम बात करेंगे आइने के बारे में। घर में आइने को सही दिशा में लगाने से शुभ लाभ मिलते हैं । वैसे तो आइना घर में सजने-संवरने के लिए होता है लेकिन इसे सही दिशा में लगाने से यह आपकी किस्मत भी बदल सकता है । सही दिशा में आइना लगाने से घर से वास्तु सम्बन्धी समस्या कम होती है।घरों में साधारण रूप से आयताकार और वर्गाकार शीशे लगाये जाते हैं, जो कि वास्तु के अनुसार बिल्कुल ठीक हैं। जबकि घर में गोल आकार का और धार वाले शीशे का प्रयोग कभी नहीं करना चाहिए । गोल की जगह आप अष्टकोनीय, यानी आठ कोनो वाल आइना लगा सकते हैं। नुकीले आकार का आइना लगाने से घर में नकारात्मकता आती है और परेशानी बनी रहती है ।घर में आइना लगाने के लिये उत्तर-पूर्व दिशा का चुनाव करना चाहिए। इस दिशा में आईनालगाने से परेशानियां धीरे-धीरे अपने आप दूर होती चली जाती हैं। उम्मीद है आप इस वास्तु टिप्स को अपनाकर जरुर लाभ उठायेंगे।

हाल का ध्यान

लिंक